TDS क्या होता है पीने का पानी का TDS कितना होना चाहिए ?

जल ही जीवन है आपने सुना होगा हमारे शरीर के लिए पानी कितना आवश्यक होता है| बिना पानी के कोई जीवित नहीं रह सकता है। पानी मनुष्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है, अच्छा पानी अच्छे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी है|लेकिन आजकल औद्योगीकी करण के कारण शहर का पानी पीने योग्य नहीं रहता है|

TDS क्या होता है
News18Hindi

जितना बड़ा शहर उतना ज्यादा कारखाने और उतनी ज्यादा संख्या में प्रदूषण के कारण पानी विशैले हो जाते हैं| अधिकतर शहरों में पीने का पानी का TDS बढ़ चुका है।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि TDS क्या होता है?

TDS का पूरा नाम Total Dissolved Solid है। मतलब पानी में घुले हुए सभी ठोस पदार्थ। पानी में बहुत सारी धातु, नमक और क्रेज घुले हुए होते हैं। पानी में घुले हुए मुख्य पदार्थ में से कैल्शियम, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम बाईकार्बोनेट, क्लोराइड और सल्फेड मौजूद होते हैं। TDS को TDS मीटर से जांच किया जाता है

TDS क्या होता है
PaytmMall

TDS को मिलीग्राम प्रति लीटर में मापा जाता है| पानी का TDS चेक करने से यह पता चल जाता है कि पानी शुद्ध है या नहीं, वह पीने योग्य है या नहीं। पानी का TDS 100 – 300 मिलीग्राम प्रति लीटर तक होता है, तो वह पानी मीठा होगा।

Know More

WHO के अनुसार –

स्वस्थ रहने के लिए नॉरमल TDS की मात्रा 300 मिलीग्राम प्रति लीटर तक होनी चाहिए| अगर पानी का TDS 100 मिलीग्राम प्रति लीटर से कम हो जाए, तो उस पानी में हमारे शरीर के लिए खुले हुए पदार्थ जैसे – मैग्नीशियम, पोटेशियम, सोडियम बाईकार्बोनेट आदि पदार्थ कम हो जाएंगे। लेकिन यह सभी खनिज पदार्थ हमारे शरीर की कार्यक्षमता को बढ़ाने के लिए बहुत ही जरूरी है |

यह सभी खनिज पदार्थ हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है|इसलिए पानी का TDS न अधिक ज्यादा न अधिक कम होना चाहिए| 100 – 300 मिलीग्राम प्रति लीटर वाला पानी हमेशा अच्छा होता है। ज्यादा TDS वाला पानी हमारे शरीर को अधिक नुकसान पहुंचाता है |

TDS क्या होता है
JagranJosh

पीने के पानी का TDS जितना ज्यादा होगा पानी उतना खारा होता चला जाएगा| क्योंकि जिस पानी का TDS ज्यादा होता है उसमें मर्करिक, लीड, अर्शेनिक, कैडियम और मेटल लाइट्रेट भी खुले हो सकते हैं| और यह सभी खनिज पदार्थ हमारे शरीर में गंभीर बीमारियां पैदा कर सकते हैं|

TDS क्या होता है
ZeeNews

ज्यादा TDS वाला पानी पीने से डायरिया, उल्टी, शरीर में कमजोरी, हड्डियों का कमजोर होना, पीला पेशाब आना यह सब बीमारियां हो सकती हैं। ज्यादा टीडीएस वाला पानी आपको बीमार कर कर के कमजोर बना देगा| आप जो पानी पी रहे हैं उसे एक बार TDS मीटर से चेक करके जरूर देखें।

हमारी जानकारी आपको कैसी लगी नीचे कमेंट करके जरूर बताएं।

Manisha Rajput

Hello! I'm Manisha Rajput. I love write about amazing unknown facts which is useful in practical life!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *