Best Civil Service in India भारतीय सिविल सेवा की जानकारी

आज हम आपको Civil Service in India भारत की सबसे अच्छी सिविल सर्विस कौन – कौन सी है, तथा इसमें क्या कार्य करना पड़ता है यह बताएंगे
भारत में UPSC की परीक्षा होती है| यह एग्जाम पास करने बाद आपको यह पद मिलता है, आपको इस पद की ट्रेनिंग दी जाती है|उसके बाद ही आप अपने पद पर कार्यरस्त होते है|

List Of Best Civil Service in India

तो चलिये जानते है, भारत की 5 सिविल सेवाओं के बारे में –

1. IAS –

 IAS का पूरा नाम INDIAN ADMINISTRATIVE SERVICE है| सभी भारतीय सर्विस का एक प्रशासनिक व्यवस्थापिक हाथ है| UPSC एग्जाम पास करने के बाद IAS अधिकारी को कुछ साल की सेवा के बाद जिला मजिस्ट्रेट और कलेक्टर के रूप में जिले में पद स्थापित किया जाता है| IAS 16 साल की सेवा करने के बाद मंडलायुक्त के रूप में पूरे मंडल की नेतृत्व करता है| IAS अधिकारी संसद में बनने वाले कानूनों को अपने इलाकों में लागू करता है, साथ ही नई नीतिया या कानून बनाने में योगदान देते हैं| IAS अंडर सेक्रेट्री, कैबिनेट सेक्रेटरी भी बन सकते हैं।

2. IFS-

IFS का पूरा नाम INDIAN FOREIGN SERVICE है| यह भारत के पेशेवर राजनीको का एकाय है। UPSC क्लियर करने के 3 साल बाद IFS ऑफिसर बनते हैं। यह सेवा भारत सरकार की केंद्रीय सेवाओं का हिस्सा है। भारत के विदेश सचिव भारत सेवा के प्रशासनिक प्रमुख होते हैं| IFS विदेश मामलों को लेकर काम करते हैं, और विदेश मंत्रालयों में अपनी सेवाएं देते हैं।

3. IPS-

IPS का पूरा नाम INDIAN POLICE SERVICE है| IPS सभी भारतीय सर्विस सेवाओं का पुलिस बल होता है| UPSC परीक्षा पास करने के बाद सहायक पुलिस अधीक्षक के रूप में 2 वर्ष तक कार्य करना होता है| कार्य करते हुए अधिकारी के उत्तरदायित्व पुलिस अधीक्षक के समक्ष होती है, इनका प्रमुख कार्य अपराध को रोकना व उनका पता लगाना है| सहायक अधीक्षक के रूप में कार्य करते हुए अपने पुलिस अधीक्षक के रूप में जवाबदेही होती है| पुलिस मान्य निर्देशक राज्य पुलिस बल का मुख्या होता है, पदोन्नति के द्वारा IPS- SP से लेकर IG, DIG, DGP तक बनाए जाते हैं| IPS सही तौर पर कानून को लागू कराने का काम करते हैं।

know More

4. IRS- 

IRS का पूरा नाम INDIAN REVENUE SERVICE है| UPSC परीक्षा पास करने के बाद IRS अधिकारी बना जाता है, यह एक केंद्रीय सिविल सेवा है| अधिकारी के रूप में प्रशासन और नीति निर्माण प्रत्यक्ष जो आय होती है व अप्रत्यक्ष कर जैसे – केंद्रीय उत्पाद शुल्क, सीमा शुल्क, सेवा कर आदि करो की जानकारी इसके अंतर्गत रखनी होती है| यह राजस्व विभाग के अंतर्गत कार्य करते हैं, इसे राजस्व सेवा विभाग के नाम से भी जाना जाता है।

5. IA & AS – 

IA & AS का पूरा नाम INDIAN AUDIT AND ACCOUNT SERVICE है|यह ऑडिट और अकाउंट का कार्य करती है| पहले हम अकाउंट की बात करेंगे – यह सेंट्रल गवर्नमेंट के अकाउंट का VALIDATE करती है, सर्टिफाई करती है| और स्टेट गवर्नमेंट के अकाउंट को कंपाइल एवं सर्टिफाई करती है| ऑडिट गवर्नमेंट वेरियस स्कीम चलाती है, वेरियस प्रोग्राम चलाती है| इसके अलावा सेंट्रल  पीएसयू और स्टेट के पीएसयू हर साल कुछ एक्टिविटी करते हैं, एक पर्टीकूलर जगह में| उनकी पूरी परफॉर्मेंस, उनकी पूरी स्कीम्स की फाइनेंसियल और कंप्लाइनस परफॉर्मेंस ऑडिट का काम INDIAN AUDIT AND ACCOUNT SERVICE करती है।

  • फाइनेंसियल ऑडिट में यह देखते हैं, कि उन्होंने जो अपनी फाइनेंसियल इंफॉर्मेशन प्रेजेंट की है, डाटा प्रेजेंट किया है, वह कितना सही है|
  • कंप्लाइन ऑडिट में यह देखते हैं, कि वह कितना रूल्स को फॉलो करते हुए अपने काम का निर्वाहन करते हैं।
  • Performance Audit में यह देखते हैं, कि उन्होंने जो स्कीम लाई है| जो ऑब्जेक्ट से वह स्कीम लाई है, वह कितने हद तक ऑब्जेक्टिव हो वह कॉलिफाई करता है।

आपको हमारी जानकारी कैसे लगी नीचे कमेंट करके बताइये|

Manisha Rajput

Hello! I'm Manisha Rajput. I love write about amazing unknown facts which is useful in practical life!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *