स्कूल बस का रंग पीला क्यों होता है?

आपने अक्सर देखा होगा कि स्कूल बस का रंग पीला ही होता है हरा, नीला, सफेद, लाल नहीं होता है| क्या आपने सोचा है, कि ऐसा क्यों होता है? तो चलिए जानते हैं|

1939 में

डॉक्टर फ्रैंक ने संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के बसों के मानकों की स्थापना के लिए एक सम्मेलन का आयोजन किया था। इसमें यू एस ए के बसो के लिए एक सामान्य रंग पीला भी था |इस बस को बस क्लोम के नाम से जाना जाता है। कई लोगों का मानना है, कि लाल रंग ज्यादा आकर्षित होता है| लेकिन ऐसा नहीं है लाल रंग की तुलना में पीला रंग ज्यादा आकर्षित होता है|इसे बहुत भीड़ वाली जगह पर भी आसानी से देखा जा सकता है| पीला रंग अंधेरे में, धुंध में, बरसात में आसानी से देखा जा सकता है| एक वैज्ञानिक शोध में भी पाया गया है कि पीला रंग लाल रंग की तुलना में 1.4 गुना ज्यादा देखा गया है।

स्कूल बस का रंग पीला क्यों होता है – चलिए जानते हैं-

Know More

भारत ने 2012 में उच्च न्यायालय ने बसों को लेकर एक आदेश जारी किया था| जिसमें बसों के अंदर प्राथमिक उपचार की सुविधा भी उपलब्ध होनी चाहिए| बच्चों की सुरक्षा को लेकर यह निर्णय लिया गया है|

  • स्कूल बस की खिड़की में जाली लगी होनी चाहिए|
  • बस में स्कूल का नाम व प्रिंसिपल का नंबर लिखा होना चाहिए|
  • बस में स्कूल की पूरी जानकारी रहनी चाहिए|
  • स्कूल बस का ड्राइवर 40 की गति से ही गाड़ी चला सकता है|40 की गति से ज्यादा तेज बस चलाने पर बस चालक के ऊपर कार्यवाही हो सकती है |
  • छोटे बच्चों के बस में 1 शिक्षक का होना अनिवार्य हैं |

भारत ही नहीं पूरी दुनिया में स्कूल के बस का रंग पीला ही होता है, बच्चों की सुरक्षा को लेकर ही बस का रंग पीला रखा गया है| जब बस रोड पर निकले तो सब उसे देखकर अपनी गाड़ी साइड कर लें।बच्चों की बस आसानी से पहचाना जा सके इसलिए बस रंग पीला होता है।

Manisha Rajput

Hello! I'm Manisha Rajput. I love write about amazing unknown facts which is useful in practical life!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *