महाशिवरात्रि क्यों मनाया जाता है

Spread the love

महाशिवरात्रि हिन्दुओ का प्रमुख धार्मिक पर्व है ये पर्व फाल्गुन मास में कृष्ण पक्ष की चुतर्दशी को मनाया जाता है। तो चलिये जानते है महाशिवरात्रि क्यों मनाते है –

महाशिवरात्रि  के ही दिन भगवान भोलेनाथ और माता पार्वती का विवाह हुआ था। इस दिन शिवभक्त भगवान शिव की उपवास रखते है और पूजा अर्चना करते है । महाशिवरात्रि के दिन पूरी श्रद्धा के साथ माता पार्वती और शिव की पूजा उपासना करने वाले भक्तो पर भगवान भोलेनाथ जल्द प्रश्न होते है। वैसे तो भोले शंकर की  पूजा करने के लिए हर दिन शुभ होता है लेकिन सावन का सोमवार , शिवरात्रि और महाशिवरात्रि का अलग ही महत्व होता है ।

महाशिवरात्रि क्यों मनाया

 इस दिन भगवान भोलेनाथ की पूजा करने से भक्तो को विशेष लाभ की प्राप्ति होती है महाशिवरात्रि के दिन देशभर के सभी शिवमंदिर में शिवभक्तो की भारी  भीड़ उमड़ती है । भगवान शिव के भक्तो के लिए शिवरात्रि और महाशिवरात्रि का दिन काफी खास रहता है  । कई लोग महाशिवरात्रि को ही शिवरात्रि बोलते है लेकिन ऐसा नहीं है ये दोनों पर्व अलग – अलग महीने और दिन में पड़ते है  बहुत से लोग नहीं जानते की दोनों में क्या अंतर है ।

 महाशिवरात्रि– महाशिवरात्रि साल में 1 बार आता है ये धार्मिक पर्व फाल्गुन मास में कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मनाया जाता है । भगवान भोलेनाथ के भक्त  इस दिन को  पुरे हर्षोउल्लास के साथ मनाते  है इस दिन भक्त अपने भगवान शिव का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए मंदिर जरूर जाते है ।

शिवरात्रि वैसे तो भगवान शिव और माता पार्वती  पूजा के लिए हर दिन खास होता है लेकिन शिव भक्तो के लिए शिवरात्रि पर्व का भी खास महत्व है । शिवरात्रि  हर महीने की कृष्णपक्ष की चतुर्दशी को मनाते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.