चित्रकूट जलप्रपात – भारत की नियाग्रा के रोचक तथ्य

Spread the love

चित्रकूट जलप्रपात भारत के छत्तीसगढ़ राज्य के बस्तर जिले के जगदलपुर में स्थित है । यह जगदलपुर से 38 km की दूरी पर स्थित है । यह देश के सबसे बड़े झरना में से एक है यह जलप्रपात लगभग 100  फीट की ऊंचाई से गिरता है । वैसे तो इस जलप्रपात के अद्भुत नज़ारे देखने के लिए हर मौसम में पर्यटक आते है लेकिन खासतौर पर मानसून के समय यहाँ भारी भीड़ दिखाई देता है

आज हम बात करने वाले है भारत की नियाग्रा कहे जाने वाले चित्रकूट जलप्रपात की तो चलिये जानते है

चित्रकूट जलप्रपात रोचक तथ्य

1. चित्रकूट जलप्रपात की तुलना दुनिया के सबसे भव्य और सुंदर झरने से की है ।

2. इसे भारत के नियाग्रा फॉल्स के रूप में भी जाना जाता है ।

3  यह जलप्रपात इंद्रावती नदी पर स्थित है जो ओडिशा से निकलती है और अंत में गोदावरी नदी में विलीन हो जाती है  

4  चित्रकूट जलप्रपात के बाय किनारे पर एक छोटा शिव मंदिर है और प्राकृतिक रूप से निर्मित कुंड और गुफाएँ है इन गुफाओ को पार्वती गुफाओ के नाम से जाना जाता है ।

5  चित्रकूट जलप्रपात के कोने पर बैठने वाले पक्षी अक्सर इसकी सुंदरता को बढ़ा देते है ।

6  चित्रकूट जलप्रपात का भीषण शोर इतना तेज है कि इसके शोर के पीछे कुछ भी सुनना असंभव है ।

चित्रकूट के आसपास घूमने की जगह

1. तीरथगढ़ जलप्रपात :- चित्रकूट जलप्रपात के बाद यह दूसरा झरना है जो बस्तर जिले के जगदलपुर के कांगेर घाटी में स्थित है ।

2. कुटुमसर गुफा :- यह गुफा कुटुमसर गांव में कांगेर नदी के तट पर एक चूना पत्थर की गुफा है यह गुफा कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में है ।

3. कैलाश गुफा :- यह एक लोकप्रिय गुफा है जो कांगेर घाटी राष्ट्रीय उद्यान में है ।

4  भैसा दरा :- यह कांगेर घाटी के अंदर पानी का कुंड और पहड़ियो से घिरा हुआ है इस कुंड में मगरमच्छ और कछुआ पाये जाते है ।

5  दलपतसागर :- यह सागर छत्तीसगढ़ राज्य की सबसे बड़ी कृत्रिम झीलों में से एक है जो कमल और पानी से भरा हुआ है यह सागर मछली पकड़ने नौकाविहार के प्रसिद्ध  है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.