मानव शरीर में ईयरवैक्स का क्या कार्य है?

Spread the love

ईयरवैक्स या कान का मैल बहुत उपयोगी पदार्थ है, जो हमारे कानों को स्वस्थ रखता है और कान में प्राकृतिक रूप से उत्पन्न होता है। यह मोम सिर्फ इंसानों में ही नहीं, जानवरों में भी पाया जाता है। यह कानों को साफ, सुरक्षा और चिकनाई देता है। ।

ईयरवैक्स का वैज्ञानिक नाम सेरुमेन (CERUMEN) है। यह हमारे कर्ण नलिका के बाहरी भाग में बनता है जहां हजारों ग्रंथियां होती हैं। यह चिपचिपा और चमकदार पदार्थ है। यह कान को मॉइस्चराइज़ करने और संक्रमण से लड़ने के लिए कोट करता है। ईयरवैक्स धूल, गंदगी और कीड़ों को कान में जाने से भी रोकता है।

यह एक प्राकृतिक एंटीबायोटिक की तरह भी काम करता है यानि इसमें एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं। कुछ शोधकर्ताओं के अनुसार, सेरुमेन में एक लाइसोजाइम जीवाणुरोधी एंजाइम होता है जो बैक्टीरिया की कोशिकाओं की दीवारों को नष्ट करने में सक्षम होता है।

ईयरवैक्स की मदद से यह भी बताया जा सकता हैं कि आप किस परिवार से हैं। लोगों के पास गीला या सूखा मोम होता है। हालांकि दोनों वैक्स केमिकल से बने हैं। लेकिन यह परिवार पर निर्भर करता है कि आपके कान में मोम गीला या सूखा होगा। इसका पता जीन द्वारा लगाया जाता है। इस जीन को ABCC11 कहा जाता है। यदि जीन G को जीन A द्वारा प्रतिस्थापित किया जाता है, तो कान में मोम सूख जाएगा और इसकी गंध भी अलग होगी।

ईयरवैक्स के कार्य :

कान की त्वचा की रक्षा और मॉइस्चराइज़ करना।

सूखे और खुजली वाले कानों को रोकना।

विशेष रसायनों का उपयोग करना जो कान के संक्रमण को दूर करना।

ईयरड्रम की रक्षा करना।

धूल, गंदगी, पानी और अन्य चीजों को कानों में प्रवेश करने से रोकना।

कान का मैल कब समस्या बन जाता है : ईयरवैक्स सामान्यतः कोई समस्या नहीं है। लेकिन अगर ये ज्यादा मात्रा में बनने लगे तो ये ऐसा अवरोधक बन सकता है जिससे कान में दर्द हो सकता है या फिर कुछ मामलों में सुनने की क्षमता कमजोर हो सकती है। नुकीले सामान या पेन कैप जैसी चीजों से ईयरवैक्स को हटाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए। ऐसी चीजें कान में डालने से ईयर कैनाल और ईयरड्रम को गंभीर नुकसान हो सकता है।

क्या ईयरबड का इस्तेमाल सुरक्षित है? अक्सर कान साफ करने हेतु ईयरबड का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन ये खतरनाक साबित हो सकते है। हर ENT स्पेशलिस्ट कान साफ करने के लिए ईयरबड का प्रयोग न करने की सलाह देते है। इससे ईयरवैक्स को कान के और भीतर चले जाते है। ये कान में चिपक सकते है जो स्वयं की सफाई में सक्षम नहीं होते है। कई बार इससे कान के पर्दे फट सकते है।

क्या ईयर ड्रॉप्स कारगर है? कान साफ करने हेतु ईयर ड्रॉप्स का इस्तेमाल करते है। ये ईयर ड्रॉप्स कान के मैल को नम कर देते हैं और मैल स्वयं ही बाहर निकलने लगता है। इसके अलावा जैतून और बादाम के तेल की बूंदें भी उपयोग की जा सकती है।

क्या पानी से सफाई कर सकते है? मेडिकल साइंस के सिरिंजिंग तकनीक द्वारा कान की सफाई की जाती है। इसमें एक सिरिंज के जरिए पानी की फ़ुहारें डाली जाती है। इसमें ईयरवैक्स साफ तो हो सकता है लेकिन कुछ मामलों में इससे कान का पर्दा भी फट सकता है।

आपको यह जानकारी कैसी लगी, हमे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके जरूर बताये। अपने सुझाव हमारे साथ जरूर साझा करे |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *